व्यंग्य

अब पछताए होत का ? खिचड़िया खा गये मोदी..

तेज़ी से दौड़ता हुआ घर में प्रवेश हुआ छिल्टुआ । सिधे अपने पापा के पास जाकर हाँफते हुए बोला – पापा ! पापा ! नीतीश कुमार ने इस्तीफ़ा दे दिया । हाँ ! का कह रहे हो ? साचहुँ इस्तीफ़ा दे दिये का ? ( एकदम से चिहूँक गये आत्मा राम । दिमाग़ पर... Read more

जन्मदिन आपका शुभकामनाएँ हमारी....

भोजपुरी

भोजपुरी गमक

जतंर - मंतर चलल जाई , धरना पर बईठल जाई ..

जतंर – मंतर चलल जाई , धरना पर बईठल जाई । हाल्ला बोल के ओहिजे से , भोजपुरी के ताल ठोकाई ।। सुतल बा सरकार के ईच्छा, जागी कहिया कबले जागऽ हो एहसे पहिले कि भोजपुरिया के ख़ून खउले फिर ना कुरसी कबो भेंटाई , ना होई अगर सुनवाई । हाल्ला बोल के ओहिजे से […] Read more

गलचउर

भोजपुरी जन जागरण अभियान के अगिला प्रस्तुति 9 अगस्त के जंतर - मंतर पर सातवाँ विशाल धरना

( रामदरस जहिया से सुनले बाड़न कि भोजपुरी के आठवीं अनुसूची में शामिल करावे ख़ातिर दिल्ली में धरना बा । इनकर मन फुद – फुदाईल बा । दिल्ली जाये के बेचैनी रोम – रोम में हिलकोर मारत बिया । दिल्ली के मैटरो रेल आ ऊँचा – ऊँचा माल के दरसन करे ख़ातिर मन छटपटईल बा... Read more

भोजपुरी लोकपत्र

चल ! चल ! 'घोड़दउड़' देखल जाव । दुआरे बारात लागेवाला बा...

चल ! चल ! ‘घोड़दउड़’ देखल जाव । दुआरे बारात लागेवाला बा…

” आपन खोढ़िया बाहारऽ, ये अनजानु बाबा आवत बाड़े दुल्हा – दामाद। आहो आवत बाड़ें दुल्हा – दामाद। बईठे के मांगेलें सोफा -गलईचा लड़ने को... Read more

केहू कहत राय बहादूर, केहू कहत शेक्सपियर .....

केहू कहत राय बहादूर, केहू कहत शेक्सपियर …..

केहू कहत राय बहादूर, केहू कहत शेक्सपियर । केहू कहत कवि भिखारी, घर कुतुबपुर दियर ।। दोहा बारह सौ पंचानबे जहिया, सुदी पूस पंचमी रहे तहिया। रोज सोमार ठीक... Read more

अभियान

चौपाल

फ़िल्मी

© cartoondhun 2017